Ardunino Components and c programing language in hindi

Arduino Board Components in Hindi

Arduino क्या है और इसके क्या इस्तेमाल है ? What is Arduino in Hindi
  1. Power USB : Arduino board को आप अपने USB cable के इस्तेमाल से अपने कंप्यूटर से जोड़ कर पॉवर दे सकते है | आपको बीएस USB cable को Arduino में दिए गए USB power port से जोड़ना है |
  2. Power(Barrel Jack) : Arduino boards को directly AC supply के साथ connect किया जा सकता है, Barrel Jack की मदद से |
  3. Voltage Regulator : Voltage regulator, Arduino में दिए गए Voltage को control करने का काम करता है |
  4. Crystal Oscillator : यह Arduino को समय समझने में और उसे संभालने में मदद करता है |
  5. Arduino Reset : आप अपने बोर्ड को reset कर सकते है | या तो आप Arduino को reset बटन दबा के reset कर सकते है, या तो आप board में मौजूद reset पिन से एक बटन कनेक्ट कर उसे reset कर सकते है |
  6. Power LED indicator : जैसे ही आप अपने बोर्ड को power supply के साथ connect करते है वैसे ही यह LED light on हो जाता है | अगर ऐसा नहीं होता है तो समझ जाए की आपके connection कुछ खोट है |
  7. Analog Pins : Arduino board में कई analog pin मौजूदं है, A0 से A5 तक | इस पिन की मदद से किसी भी analog sensor को जोड़ा जा सकता है, जैसे temperature sensor, humidity sensor इत्यादि |
  8. Main microcontroller : हर Arduino Board का एक अपना microcontroller होता है, जिसे आप उसका दिमाग भी कह सकते है | अलग अलग board के IC chip में कुछ कुछ अंतर होते है | इन microcontroller को ATMEL company द्वारा बनाया जाता है |
  9. Pins(3.3,5,Vin,GND)
  • 3.3 V : यह ३.३ Volt की output के लिए है
  • 5 V : यह ५ volt की output के लिए है
  • बहुत सारे components, 3.3V या 5V के साथ आराम से काम करते है
  • GND(Ground) : बोर्ड में कई सारे GND या ग्राउंड पिन मौजूद है जिनके इस्तेमाल से आप grounding कर सकते है
  • Vin : Vin के इस्तेमाल से आप Arduino board को किसी external power supply से power दे सकते है जैसे की AC supply

 

Arduino kya hai-What is Arduino

आज हम जानेंगे की Arduino क्या है। दशकों से, इलेक्ट्रॉनिक के प्रति दिलचस्पी रखने वाले लोग हमेशा से मौजूद रहे हैं, और वे आकर्षकउपकरण और उत्पाद बना रहे हैं। Arduino एक  हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर का मंच/प्लेटफॉर्म है, जो कलाकारों, डिज़ाइनरों, इलेक्ट्रॉनिक्स के शौक़ीनों, हैकरों, नए-नए लोगों और इंटरेक्टिव वस्तुओं बनाने में रुचि रखने वाले लोगों के लिए डिज़ाइन किया गया है।

 

Arduino  के बारे में जाने से पहले हम IC के दो फ़ॉर्मेट के बारे में जानते हैं । मुख्य रूप से आई सी के दो प्रकार होते हैं, जिसमें से पहला non-programmable आई सी और दूसरा programmable आई सी है।

Non-programmable IC कैटेगरी में वे आई सी आते हैं जिन्हें हमें प्रोग्राम करने की जरूरत नहीं पड़ती। उसके फंक्शन पहले से निर्धारित होते हैं जिसे हम आवश्यकता के अनुसार सीधे इस्तेमाल करते हैं। इन IC को हम सीधे मार्केट से खरीद कर, इसका इस्तेमाल करते हैं। इनमें से मुख्य रूप से 555 IC, lm358 IC, 4060 IC, ht12d IC, ht12e IC और l293d IC है। यह सभी आई सी non-programmable हैं।

दूसरा programmable IC वे आई सी जिसे हम प्रोग्राम कर सकते है। उनको  हम प्रोग्रामेबल आई सी कहते हैं। इन्हीं IC को हम माइक्रोकंट्रोलर के नाम से जानते हैं। इन IC को हम प्रोग्राम करके अपने आवश्यकता के अनुसार काम ले सकते हैं। माइक्रोकंट्रोलर अलग-अलग फंक्शंस और सीरीज में अवेलेबल है। इनके फंक्शंस के अनुसार हम इनका चुनाव करते हैं। ऐसे ही कुछ माइक्रोकंट्रोलर पर प्रोग्राम करने के लिए हम Arduino इन्वायरमेंट का इस्तेमाल करेंगे।

 

Arduino का परिचय – यह क्या है?

Arduino एक खुला स्रोत (ओपन-सोर्स) इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफ़ॉर्म या बोर्ड है, जिसका उपयोग इलेक्ट्रॉनिक्स परियोजनाओं (projects) के निर्माण के लिए किया जाता है और जो आसानी से उपयोग होने वाले हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर पर आधारित है।

 

 

Arduino क्या कर सकता है?

Arduino बोर्ड का उपयोग इनपुट को पढ़कर इलेक्ट्रॉनिक्स को नियंत्रित करने और इसे आउटपुट में बदलने के लिए एक उपकरण के रूप में किया जाता है। लेकिन वास्तव में वे क्या कर सकते हैं या क्या कर सकते हैं?
Arduino बोर्ड लाइट सेंसर पर प्रकाश, टेम्प्रेचर सेंसर में उष्मा , बटन पर ऊँगली , रेन सेंसर पर पानी, या ट्विटर संदेश के इनपुट संदेश को पढ़ कर और उसे आउटपुट में बदल कर – एक मोटर को सक्रिय करने, एक एलईडी चालू करने या कुछ ऑनलाइन प्रकाशित करने में सक्षम हैं।
एक LED चालू-बंद करने  से एक चलने वाले रोबोट तक, तथा कई अलग-अलग इलेक्ट्रॉनिक परियोजनाओं के निर्माण के लिए Arduino बोर्ड का उपयोग किया जा सकता है!

 

Arduino का आविष्कार किसने किया?

Arduino का जन्म Ivrea Interaction Design Institute में तेजी से प्रोटोटाइप बनाने के लिए हुआ था, जिसका उद्देश्य उन छात्रों के सहायता लिए था जिनको इलेक्ट्रॉनिक्स और प्रोग्रामिंग में कुछ ना पता हो वो भी आसानी से प्रोटोटाइप बना लें।

 

 

Arduino का उपयोग क्यों करें?

Arduino इन्वायरमेंट प्रोजेक्ट बनाने के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला इनफॉर्मेंट है, क्योंकि यह काफी यूजर फ्रेंडली इन्वायरमेंट है।

 

1- ओपन-सोर्स
चूंकि Arduino प्लेटफ़ॉर्म ओपन सोर्स है, जिससे की Arduino Software आप को पूरी तरह से free मिलता है और ओपन सोर्स हार्डवेयर वह हार्डवेयर होता है जिसका डिज़ाइन सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराया जाता है ताकि कोई भी उस डिज़ाइन के आधार पर डिज़ाइन या हार्डवेयर का अध्ययन, संशोधन, वितरण, निर्माण और बिक्री कर सके।

2- सस्ता
जब भी आप कुछ खरीद रहे होते हैं, तो आप हमेशा पहले लागत को देखते हैं। मार्केट में आप Arduino बहुत  काम पैसे लगा  कर  आसानी  से खरीद  सकते  हैं । Arduino UNO R3-Made in Itly की बाजार में कीमत लगभग ₹1200 में खरीद सकते हैं, और Arduino क्लोन की बाजार में कीमत ₹500 से भी काम है।

3-शुरुआती के लिए उपयोग करने के लिए आसान और सही
Arduino पर वर्क करने के लिए किसी ब्रांच विशेष की होने की जरुरत नही है, आप किसी भी ब्रांच या किसी भी क्लास के स्टूडेंट हों। Ardino पर आप बहुत आसानी से वर्क कर सकते हैं। बाकी माइक्रोकंट्रोलर की तुलना में इसके फंक्शंस काफी सरल है। Ardino में काम करने के लिए हॉयर लेवल प्रोग्रामिंग या कोडिंग सीखने की जरूरत नहीं है।

4-क्रॉस-प्लेटफॉर्म
Arduino IDE भी क्रॉस-प्लेटफ़ॉर्म है जिसका मतलब है कि आप इसे विंडोज, मैकिन्टोश OSX और अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम पर  चला  सकते हैं। जबकि अधिकांश माइक्रोकंट्रोलर विंडोज सिस्टम तक ही सीमित हैं।
सभी Arduino बोर्डों में एक चीज समान है जो एक माइक्रोकंट्रोलर है। एक माइक्रोकंट्रोलर मूल रूप से एक बहुत छोटा कंप्यूटर है। Arduino बोर्ड मूल रूप से इलेक्ट्रॉनिक्स को नियंत्रित करने के लिए एक उपकरण है।

5 – व्यापक किस्म
Arduino  के बहुत सारे model उपलब्ध है, आप अपने आवश्यकता के अनुसार इनका चुनाव कर सकते हैं l मान लीजिये के प्रोजैक्ट में जगह की कमी है तो वहां पर आप Arduino नैनो का प्रयोग कर सकते हैं  जिसका आकर 18.54 x 43.18 मिमी है! ओर अगर  आप को अधिक मेमोरी स्पेस और प्रोसेसिंग पावर की आवश्यकता है तो आप को एक Arduino मेगा की जरुरत है l

 

Arduino कैसे काम करता है?

आप अपने arduino के माइक्रोकंट्रोलर को निर्देशों का एक सेट भेजकर बता सकते हैं कि क्या करना है।ऐसा करने के लिए आप को संसाधन के आधार पर Arduino प्रोग्रामिंग भाषा ( Writing पर आधारित), और Arduino सॉफ़्टवेयर (IDE) का उपयोग करना आना चाहिए l

 

 

Arduino के बारे में

Arduino इन्वायरमेंट के मुख्य रूप से 2 पार्ट है, फर्स्ट हार्डवेयर सेकंड सॉफ्टवेयर। प्रोग्रामिंग का फिजिकल मोमेंट देखने के लिए हम हार्डवेयर का इस्तेमाल करते हैं और प्रोग्रामिंग करने के लिए सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं।

 

 

1- Arduino हार्डवेयर

a) Arduino बोर्ड

Arduino का  हार्डवेयर ही Arduino बोर्ड है। हालांकि, जब Arduino बोर्डों की बात आती है, तो यह विभिन्न किस्मों के साथ मार्केट में उपलब्ध है ।
जैसे की Arduino Nano, Arduino Uno, Arduino Due, Arduino Mega 2560, Arduino Mega, Lilly pad Arduino Simple, Lilly Pad Arduino Main Board, Arduino Pro, Arduino Ethernet, Arduino Zero, Arduino Pro Mini, Arduino Micro, Arduino Leonardo, Arduino Esplora, Arduino M0 Pro, Arduino Duemilanove, Arduino Fio, Arduino 101, Arduino Ethernet, Arduino Diecimila, Arduino BT, Arduino MKR Zero, Arduino MKR 1000, Arduino Uno WiFi, Arduino Portenta H7.

 

b) Arduino सेंसर और शील्ड्स
सभी इनपुट उपकरणों को सेंसर के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है। ये ऐसे घटक हैं जिनके आउटपुट (आमतौर पर एक एनालॉग वोल्टेज) आसपास के वातावरण की दी गई प्रकृति के अनुसार बदलते हैं।

यह तापमान परिवर्तन से लेकर गुरुत्वाकर्षण तक, विद्युत चुम्बकीय आवेश में कुछ भी हो सकता है। सेंसर अविश्वसनीय रूप से उपयोगी उपकरण हैं।

Arduino शील्ड्स
Arduino शील्ड्स पूर्व निर्मित सर्किट बोर्ड हैं जो आसानी से Arduino की  क्षमताओं का विस्तार करने के लिए Arduino हेडर के ऊपर प्लग किए जाते हैं|अगर आप Arduino के लिए नए हैं और Arduino के साथ, ब्लूटूथ, वाईफाई कनेक्टिविटी, जीपीएस, मोटर ड्राइवर को जोड़ना मुश्किल है, तो आप Arduino shield का उपयोग कर सभी परेशानियों से बच सकते हैं।

 

2- Arduino सॉफ्टवेयर

Arduino के हार्डवेयर को जानने के बाद, आपको अपने Arduino प्रोजेक्ट में जीवन लाने  के लिए सॉफ़्टवेयर और प्रोग्रामिंग की आवश्यकता होगी जिससे की आप का Arduino विभिन्न सेंसरों और शील्ड के साथ मिल कर काम कर सके ।
अपने Arduino को प्रोग्राम करने के लिए, आपको Arduino IDE सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता होगी।

 

Arduino IDE के बारे में
Arduino इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट एन्वायरमेंट -Arduino Software (IDE) आपको प्रोग्राम लिखने और उन्हें अपने बोर्ड पर अपलोड करने की अनुमति देता है। Arduino IDE  में कोड लिखने के लिए एक टेक्स्ट एडिटर होता है , जिस पर हम अपना प्रोग्राम लिखते हैं ।

Arduino IDE क्रॉस-प्लेटफ़ॉर्म है जिसका अर्थ है कि कि आप इसे विंडोज, मैकिन्टोश OSX और अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम पर भी  चला  सकते हैं। इस सॉफ्टवेयर का उपयोग Arduino के किसी भी बोर्ड के साथ किया जा सकता है। Arduino पर प्रोग्राम लिखने के लिए आप को C /C ++ की थोड़ी बहुत जानकारी होनी चाहिए।

जब आप अपना कोड लिख कर  समाप्त कर लेते हैं, तब आप एक बटन के एक क्लिक के साथ अपने कोड को आसानी से अपने USB केबल की सहायता से  Arduino बोर्ड पर लोड कर सकते हैं।
जैसे ही आप का प्रोग्राम Arduino बोर्ड पर अपलोड  होगा आप का प्रोजक्ट काम करना start कर देगा ।

इस  पोस्ट में आप ने ARDUINO के basic को जाना , आगे को पोस्ट में हम Arduino hardware, Arduino IDE  को Install karna, Arduino  प्रोजक्ट्स को बनाना जानेंगे ।
source

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.